Connect with us

उत्तराखंड

हल्द्वानी। मैगी को लेकर हुआ झगड़ा तो कर दी हत्या, देखें रिपोर्ट:-

हल्द्वानी – थाना मुखानी में घटित पार्थ हत्याकाण्ड की सूचना मिलते ही श्री प्रहलाद नारायण मीणा, एस०एस०पी० नैनीताल द्वारा एस०पी० काईम अपराध/ यातायात नैनीताल, एस०पी० सिटी हल्द्वानी, सी०ओ० हल्द्वानी व थानाध्यक्ष मुखानी को घटना का तत्काल खुलासा करने तथा आरोपियों की गिरफ्तारी करने के कडे निर्देश दिये गये। मुकदमा उपरोक्त /घटना के कुशल अनावरण हेतु डॉ जगदीश चन्द्र, एस०पी०काईम / यातायात नैनीताल, श्री हरबन्स सिंह, एस०पी०सिटी० हल्द्वानी के मागदर्शन तथा श्री भूपेन्द्र सिंह धौनी, सी०ओ० हल्द्वानी के पर्यवेक्षण मे श्री प्रमोद पाठक, थानाध्यक्ष मुखानी समेत अन्य थानों के प्रभारियों के नेतृत्व में पुलिस टीमों का गठन किया गया। घटना के कुशल अनावरण हेतू घटना स्थल के आस पास के लगभग 120-150 सी.सी.टी.वी कैमरो को चैक किया गया तो घटनास्थल घटनास्थल पहुचने से पूर्व मृतक पार्थ राज सिंह सामन्त व उसका दोस्त सिद्धार्थ उर्फ सिद्ध उर्फ सैमुअल व मंयक कन्याल, कमल रावत 04 लोग दिखाई दिये जिसमे से समय करीब रात्रि 11.15 बजे सिद्धार्थ अपनी मो० साइकिल से घर जाते हुये दिखाई दिया। घटनास्थल के आस पास के सी.सी.टी.वी कैमरो का गहनता से चैक किया गया तो दिनाँक 01/11/2023 की सुबह करीब 03.15 बजे मृतक पार्थ की कार से पार्थ के अलावा उसका दोस्त मंयक व अभि० कमल रावत आता दिखाई दिये और थोडी देर बाद समय करीब 03.22 बजे मयंक कन्याल भी घटना स्थल से अपने घर जाता दिखाई दिया । मृतक पार्थ के साथ अन्तिम समय तक अभि० कमल रावत उर्फ भदुवा ही मौजूद रहा। घटना के सम्बन्ध मे मंयक कन्याल के पूछताछ करने पर पता चला कि कमल रावत ही लास्ट तक पार्थ के साथ था व उसके द्वारा पार्थ राज सिंह सामन्त की हत्या की गयी है जो कि फरार चल रहा था जिसे दिनांक 21/11/23 को समय 16.30 बजे भाखडापुल के पास से मुखबिर की सूचना पर पुलिस ठीम द्वारा गिरफ्तार किया गया जिससे पूछताछ पर अभियुक्त ने बताया कि मैं (कमल रावत) व पार्थ राज सिंह सामन्त, सिद्धार्थ व मंयक कन्याल दोस्त है व हम सभी लोग शराब, स्मैक व डौरेक्स (मेडिकल नशा) आदि का नशा करते है दिनांक 31/10/23 की शाम को मै, मयंक कन्याल, सिद्धार्थ व मृतक पार्थ राज सिंह एक साथ थे व उसके बाद हम मृतक पार्थ राज सिंह सामन्त का फोन लेने तिकोनिया हल्द्वानी गये उसके बाद हमने कई जगहो पर

यह भी पढ़ें 👉  सामने आया हल्द्वानी हिंसा का हैदराबाद कनेक्शन, देखें खास रिपोर्ट:-

स्मैक, शराब व डौरेक्स का नशा किया फिर सिद्धार्थ उर्फ सैमुअल उर्फ सिद्धू को उसकी मो० साइकिल के पास छोड दिया वह अपने घर चला गया उसके बाद जब हम तीनो (कमल रावत, मंयक कन्याल, मृतक पार्थ राज सिंह सामन्त) को भूख लगी तो हम लोग पार्थ की कार से रोडवेज पहुँचे पर वहां की दुकाने बंद होने के कारण मुखानी चौराहे पर पहुँच कर चाय की दुकान में बंद अण्डा, मैगी व लस्सी पी जब उसके लिये मैगी आयी तो मजाक में मैने उसकी मैगी में स्पंज डाल दिया जिससे वह मुझे गाली देने लगा तथा जब नशे में मेरे हाथ से उसकी कार में लस्सी गिर गयी तो वह मुझसे कहने लगा साले दिखाई नही दे रहा है यह क्या कर दिया उसने मेरी वाली मैगी खायी व मैने स्पंज रखी वाली मैगी खायी जिसके बाद हम फिर हम तीनो कार से आर.के. टैण्ट हाउस वाली गली मे वृन्दावन विहार खाली प्लाट मे पहुँचे जहाँ मंयक ने पार्थ को स्मैक की पुडिया दी और पार्थ ने उसे 500 रुपये दिये मंयक ने पार्थ को स्मैक पिलाई उसके बाद मंयक ने कहा कि मुझे सुबह ड्यूटी जाना है कह कर घर चला गया उसके जाने के बाद पार्थ मुझे गाली देते हुये कहा कि तुझे कहा छोडना है व गन्दी गन्दी गालिया देने लगा मैं पार्थ को गाली ना दे बार बार कह रहा था लेकिन पार्थ चुप नही हो रहा था और लगातार माँ बहन की गाँलिया देते जा रहा था मुझे गुस्सा आ गया और मैने उसका मुँह चुप कराने के लिये उसका नाक व मुँह को अपने हाथ से बंद कर दिया उसके बाद भी वह मुझे लगातार गाली दे रहा था जिस पर मेरा गुस्सा बढ़ गया और मैने हाथ से उसका गला भी दबा दिया जिससे वह शांत हो गया मुझे लगा कि पार्थ नशे के कारण बेहोश हो गया या सो गया है फिर मैने उसकी ड्राइविंग सीट को पूरा पीछे लिटाया और पार्थ के दोनो हाथ पकड कर ड्राइविंग सीट पर लिटा दिया व मैंने फिर से स्मैक पी मुझे बहुत नशा हो गया था और मैं गाडी की अगली सीट पर सो गया सुबह जब धूप मेरी आँखो पर पडी तब है उठा तो मैंने पार्थ को काफी हिलाया उठाया लेकिन पार्थ ने कोई हरकत नहीं कि मुझे घबराहट होने लगी मुझे समझ नही आ रहा था मुझे पसीना आने लगा मैने अपने कपडे चैज किये फिर मौका देखकर पार्थ का फोन कार में ही छोडकर व कार के शीशे बंद कर अपने कपडे लेकर वहा से चला गया पार्थ की दोस्त आकांशा व मंयक का फोन आने पर मैने पार्थ के साथ हुयी घटना को छुपाते हुये कहा कि पार्थ ने मुझे घर छोड दिया था और चला गया था। दो तीन दिन बाद मुझे पता चला की पार्थ की मौत नशे के ओवर डोज से हुयी है तो मैं निश्चिन्त हो गया पर जब मुझे पता चला कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पार्थ की हत्या होना आया है तो मैं डर गया और कल हरिद्वार भागने की फिराक में था मैं पहले भी हरिद्वार में रह चुका हूँ पर मुझे पता था पुलिस मुझे तलाश कर रही है इस लिये मै अलग अलग साधनो मे भाखडा पहुँचा था पर आप लोगो ने मुझे पकड लिया ।

यह भी पढ़ें 👉  सामने आया हल्द्वानी हिंसा का हैदराबाद कनेक्शन, देखें खास रिपोर्ट:-

अभियुक्त को मा० न्यायालय पेश किया जायेगा।

गिरफ्तार अभियुक्त व बरामदगी का विवरण- कमल रावत उर्फ माईकल उर्फ भदुआ पुत्र विजय रावत निवासी धानमिल चौराहा बैंक ऑफ बडौदा के पीछे थाना हल्द्वानी उंम्र 22 वर्ष।

यह भी पढ़ें 👉  सामने आया हल्द्वानी हिंसा का हैदराबाद कनेक्शन, देखें खास रिपोर्ट:-

बरामदगी- गिरफ्तारी के समय अभियुक्त के कब्जे से बरामद मोबाइल फोन व जामातलाशी मे मिली नगदी ।

पुलिस टीम

1- निरीक्षक हरेन्द्र चौधरी (प्रभारी निरीक्षक हल्द्वानी)

2- उ०नि० प्रमोद पाठक (थानाध्यक्ष मुखानी / विवेचक)

उ०नि० विमल मिश्रा (थानाध्यक्ष काठगोदाम)

उ०नि० नीरज भाकुनी (थानाध्यक्ष वनभूलपुरा

उ०नि० दीवान सिंह ग्वाल (चौकी प्रभारी आम्रपाली) उ०नि० संजीत राठौर (चौकी प्रभारी आर.टी.ओ)

कानि0 589 ना०पु० महबूब अली

कानि० 857 ना०पु० धीरज सूगडा

कानि0 232 ना०पु० चन्दन नेगी

कानि0 671 ना०पु० रविन्द्र खाती

कानि० 276 ना०पु० जीवन कुमार

कानि0 532 ना०पु० अनूप तिवारी

13- कानि० 865

More in उत्तराखंड

Trending News

Follow Facebook Page

About

अगर नहीं सुन रहा है कोई आपकी बात, तो हम बनेंगे आपकी आवाज, UK LIVE 24 के साथ, अपने क्षेत्र की जनहित से जुड़ी प्रमुख मुद्दों की खबरें प्रकाशित करने के लिए संपर्क करें।

Author (संपादक)

Editor – Shailendra Kumar Singh
Address: Lalkuan, Nainital, Uttarakhand
Email – [email protected]
Mob – +91 96274 58823