Connect with us

उत्तराखंड

(उत्तराखंड) राज्य के इस युवा सैन्य अधिकारी को मिलेगा सेना मेडल, क्षेत्र में खुशी को लहर……पढ़ें रिपोर्ट

उत्‍तराखंड के बागेश्‍वर जिले के कौसानी निवासी युवा सैन्य अधिकारी मेजर प्रशांत को सेना मेडल से सम्मानित करने की घोषणा की गई है। जिससे उत्‍तराखंड की जनता में खुशी की लहर है। गणतंत्र दिवस 2023 की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने की है। राष्ट्रपति की इस घोषणा पर उनके गांव में खुशी की लहर दौड़ गई है।

युवा सैन्य अधिकारी मेजर प्रशांत भट्ट की प्रारंभिक शिक्षा कौसानी के शिशु मंदिर में हुई। कक्षा पांच के बाद उनका चयन सैनिक स्कूल घोड़ाखाल में हुआ। लेकिन उनके पिता की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उन्होंने प्रशांत का नवोदय विद्यालय ताड़ीखेत में चयन होने पर वहीं प्रवेश करा दिया।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर। RPF लालकुआं को मिली बड़ी कामयाबी, रेलवे की संपत्ति के साथ तीन अभियुक्त गिरफ्तार, मामला दर्ज

प्रशांत ने हार नहीं मानी और नौवीं कक्षा के लिए सैनिक स्कूल घोड़ाखाल के लिए प्रयास किया। फिर से वहां उनका चयन किया गया।उनके पिता भुवन मोहन भट्ट ने प्रयास कर प्रशांत को वहां भेज ही दिया। सैनिक स्कूल से 12वीं पास करने के बाद प्रथम प्रयास में प्रशांत का चयन 2014 में भारतीय सेना स्पेशल फोर्स में हो गया।

बाद में कमीशंड मिलने पर वह मेजर के पद पर पहुंचे। प्रशांत को भारत सरकार ने कुशल नेतृत्व, कर्तव्य परायण, साहस और संवेदनशील मुद्दों को सरलता से हल करने पर सेना मेडल से सम्मानित करने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्दूचौड़ (नैनीताल) समाजसेवी शुभम अंडोला की पहल पर कैंसर पीड़ित युवक की मदद को आगे आए लोग, आप भी कर सकते हैं सहयोग

मेजर प्रशांत को देश सेवा एवं देश भक्ति की प्रेरणा उनके दादा सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य स्व. हरी दत्त भट्ट से मिली। उनके दादाजी प्रशांत को वीर जवानों की गाथा बार-बार सुनाया करते थे। जिससे मेजर प्रशांत बाल्यावस्था से ही देश सेवा में जाने को उत्सुक हो उठे।

उनकी इस उपलब्धि पर कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास, भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता एवं पूर्व जिलाध्यक्ष शिव सिंह बिष्ट, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, गिरीश कांडपाल, मनोज आर्य, गोपाल दत्त भट्ट, बीडी जोशी, एडवोकेट कृष्णा सिंह बिष्ट, बिपिन चंद्र उप्रेती समेत अनेकों ने खुशी जाहिर कर मेजर प्रशांत भट्ट के उज्जवल भविष्य की कामना की है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर। RPF लालकुआं को मिली बड़ी कामयाबी, रेलवे की संपत्ति के साथ तीन अभियुक्त गिरफ्तार, मामला दर्ज

उत्तराखंड सरकार ने सेना मेडल प्राप्त वीर जांबाज सैनिकों को पुरस्कार के तौर पर एकमुश्त 15 लाख और हर वर्ष 50,000 और भारत सरकार से भी लगभग इतनी ही धनराशि वीर जवानों को दी जाती है। मेजर प्रशांत भट्ट की इस उपलब्धि पर सरस्वती शिशु मंदिर कौसानी सहित पूरा क्षेत्र अपने आपको गौरवाविंत महसूस कर रहा है।

स्रोत इंटरनेट मीडिया

Continue Reading
You may also like...

More in उत्तराखंड

Trending News

Follow Facebook Page

About

अगर नहीं सुन रहा है कोई आपकी बात, तो हम बनेंगे आपकी आवाज, UK LIVE 24 के साथ, अपने क्षेत्र की जनहित से जुड़ी प्रमुख मुद्दों की खबरें प्रकाशित करने के लिए संपर्क करें।

Author (संपादक)

Editor – Shailendra Kumar Singh
Address: Lalkuan, Nainital, Uttarakhand
Email – [email protected]
Mob – +91 96274 58823