Connect with us

उत्तराखंड

हत्या। सत्तर हजार रुपये में खरीदी अपने लिए बीबी, फिर चढ़ा दी उसकी बलि, देखें ये दिल दहला देने वाली रिपोर्ट:-

नई दिल्ली: राष्ट्रिय राजधानी दिल्ली में एक दिल दहला देने वाला हत्याकांड सामने आया है। एक व्यक्ति ने पहले तो 70 हजार रुपए में स्वयं के लिए पत्नी खरीदी। फिर जब महिला बिना बताए अक्सर अपने मायके जाने लगी तो गुस्सा में आकर उसकी हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के पश्चात् अपराधी ने लाश को ठिकाने लगाने के लिए प्लान बनाया तथा बॉडी को जंगल में फेंक दिया।

पुलिस ने अपराधियों को गिरफ्तार करते हुए इस हत्याकांड का खुलासा किया है। DCP साउथ चंदन चौधरी ने एजेंसी को बताया कि शनिवार को पुलिस के पास एक कॉल आया। फोन करने वाले ने बताया कि दिल्ली के फतेहपुर बेरी क्षेत्र के जंगल में एक महिला की लाश मिली है। खबर प्राप्त होते ही पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची तथा बॉडी को अपने कब्जे में ले लिया। जंगल से इस प्रकार लाश मिलने के बाद पुलिस ने तुरंत ही मामले की पड़ताल आरम्भ कर दी। तहकीकात में पुलिस ने एक तरफ उस इलाके से गुजरने वाले वाहनों को सर्विलांस में लिया तो वहीं दूसरी तरफ तकनीक का सहारा लेते हुए भी पड़ताल आरम्भ की गई। शुरुआती जाँच में पता चला कि उस इलाके से शनिवार रात लगभग 1।40 बजे एक ऑटो गुजरा है।

यह भी पढ़ें 👉  लोकसभा चुनाव अपडेट। नैनीताल जनपद में शाम 5 बजे तक हुआ इतना मतदान, लालकुआं में इतना रहा मत प्रतिशत:-

पुलिस ने जब ऑटो का रूट ट्रैक किया तो जल्द ही उसका रजिस्ट्रेशन नंबर भी मिल गया। तहकीकात में सामने आया कि इस ऑटो को दिल्ली के छतरपुर के गदईपुर बांध रोड इलाके में रहने वाला अरुण चलाता है। जब उससे पूछताछ की गई तो उसने एक के पश्चात् एक राज उगलने शुरू कर दिए। अरुण ने बताया कि जिस महिला की लाश पुलिस को मिली है, उसका नाम स्वीटी है तथा वह धरमवीर नाम के शख्स की पत्नी थी। अरुण ने पुलिस को बताया कि उसने अपने बहनोई धरमवीर एवं सत्यवान के साथ मिलकर स्वीटी का क़त्ल किया है। तीनों ने दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर के पास नांगलोई इलाके में गला दबाकर स्वीटी की हत्या की तथा फिर उसकी लाश को जंगल में फेंक दिया। अरुण ने आगे बताया कि उसे इस जंगल के बारे में अच्छी तरह से पता था। इसलिए लाश को ठिकाने लगाने के लिए इस इलाके को चुना गया। 

यह भी पढ़ें 👉  दुस्साहस। मालकिन ने कराया नौकरानी का गैंगरेप, किसी को ना बता दे तो काट दी जुबान, फिर घटना में आया ऐसा मोड़ कि......

वही हत्या की वजन बताते हुए अरुण ने कहा,’धरमवीर अपनी पत्नी के बर्ताव से खुश नहीं था। स्वीटी अक्सर बिना बताए कई महीनों के लिए अपने मायके चली जाती थी। दरअसल, धरमवीर ने स्वीटी को 70 हजार रुपए देकर खरीदा था, इसलिए उसके परिवार के बारे में किसी को कुछ भी नहीं पता था। स्वीटी भी अपने परिवार के बारे में कभी बात नहीं करती थी। उसने केवल इतना बता रखा था कि वह बिहार के पटना की रहने वाली है।’ मामले की तहकीकात अभी जारी है। पुलिस ने हत्या के साथ-साथ इस मामले में सबूत मिटाने का मुकदमा भी दर्ज किया है। हत्या में इस्तेमाल किया गया ऑटो भी पुलिस के कब्जे में है। अब तक की तहकीकात में यह पता चला है कि आरोपी स्वीटी को यह कहकर अपने साथ ले आए थे कि वह उसे रेलवे स्टेशन छोड़ देंगे। पुलिस अब उस व्यक्ति को भी तलाश रही है, जिससे धरमवीर ने स्वीटी को खरीदा था। हालांकि, इस मामले में एक बड़ा सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि महीनों तक घर से दूर रहने के चलते स्वीटी कहां जाती थी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी। यहां देर रात झुग्गी झोपड़ियां में लगी भीषण आग, देखें रिपोर्ट

More in उत्तराखंड

Trending News

Follow Facebook Page

About

अगर नहीं सुन रहा है कोई आपकी बात, तो हम बनेंगे आपकी आवाज, UK LIVE 24 के साथ, अपने क्षेत्र की जनहित से जुड़ी प्रमुख मुद्दों की खबरें प्रकाशित करने के लिए संपर्क करें।

Author (संपादक)

Editor – Shailendra Kumar Singh
Address: Lalkuan, Nainital, Uttarakhand
Email – [email protected]
Mob – +91 96274 58823